Odisha

महिलाओं की आजीविका सृजन के लिए मशरूम की खेती को बढ़ावा दे रहा डालमिया सीमेंट…

राजगांगपुर। डालमिया सीमेंट (भारत) लिमिटेड (डीसीबीएल) अपनी सामाजिक दायित्व विभाग (सी.एस.आर) की शाखा डालमिया भारत फाउंडेशन (डीबीएफ) के माध्यम से सेफ हेल्प ग्रुप्स (एसएचजी) के लिए कई तरह के प्रशिक्षण और एक्सपोजर कार्यक्रमों की सुविधा प्रदान कर रही है ताकि वृद्धि और विकास की दिशा में एक गतिशील सक्षम वातावरण सुनिश्चित किया जा सके l अपने कटक और राजगांगपुर संयंत्रों और लांजीबरना खदानों के आसपास के समुदायों के लिए महिला सशक्तिकरण की पहल को जारी रखते हुए, कंपनी ने महिलाओं को अवसर और व्यावहारिक संभावनाएं प्रदान करने के लिए मशरूम की खेती को बढ़ावा दे रही है जिससे उनकी आजीविका कमाने की क्षमता में सुधार हो।

बाजार में मशरूम की मांग बढ़ने और अर्थव्यवस्था धीरे-धीरे सामान्य होने के साथ, डीसीबीएल की सीएसआर टीम ने समुदायों को इन परिस्थितियों से लाभ उठाने में सक्षम बनाने का अवसर दिखाया है l लांजीबरना और इसके आसपास के गांवों जैसे खेरामुटा, जंगरटोली, रुमाबहल, धौराडा, लमलोई, बिहlबंध, ज्ञानपाली, समलेईमुंडा, दम्पोश, घोघर, मेरोमडेगा (कुकुड़ा) आदि में मशरूम की खेती में महिलाओं को प्रशिक्षण देने के साथ ही खेती के लिए कच्चे माल S H G को उपलब्ध कराया जा रहा है l महिलाओं के आर्थिक स्वतंत्रता के लिए सयंत्र विभिन्न प्रकार के कौशल को अपनाने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है l

वरिष्ठ कार्यनिर्वाही निदेशक एवं डालमिया सीमेंट भारत लिमिटेड के राष्ट्रीय विनिर्माण प्रमुख गणेश डब्ल्यू जिरकुंटवार ने कहा “समर्थन और अवसर उन लोगों के लिए महत्वपूर्ण हैं, जिन्होंने पीढ़ियों से भेदभाव और पक्षपात के लिए संघर्ष किया है l इस से आत्मविश्वास और दृढ़ संकल्प के साथ उभरने और आजीविका गतिविधि को आगे बढ़ाने में मादत्त मिल सकेगी । हमारी सीएसआर टीम ने विशेष रूप से महिला समूहों और विकलांग व्यक्तियों के साथ काम करके इसका अनुभव किया है l “कटक, राजगांगपुर और लांजीबरना खदान क्षेत्रों में विशेष रूप से जमीनी स्तर पर विविध कौशल प्रशिक्षण की सुविधा प्रदान करके, हम मानते हैं कि हम स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से लोगों को एक-दूसरे का समर्थन करने के लिए एक साथ बांधने में सक्षम होंगे, और इसका लाभार्थियों पर सकारात्मक सामाजिक प्रभाव पड़ेगा। साथ ही समुदायों के भीतर भी जीवन बदलने वाले अवसरों तक पहुँचने की पहल की जा रही है।”

वर्तमान में लांजीबरना और राजगांगपुर परिधि क्षेत्र के अधिकांश गांवों में मशरूम की खेती की यूनिट हैं, जिससे महिलाएं 5000 रुपये प्रति माह तक कमा सकती हैं। प्रत्येक लाभार्थी ने मशरूम की खेती के लिए 30 से 40 बेड्स की व्यवस्था की है जिससे प्रत्येक बेड्स से लगभग 3 किलो मशरूम का उत्पादन होता है। इसी तरह, जुलाई से अक्टूबर तक पुआल मशरूम की खेती की जाती है, जिससे महिलाएं स्वतंत्र होती हैं और उनके परिवारों का समर्थन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

Related Articles

कटक क्षेत्र में, अमियाझरी गांव के बाबा जोगेश्वर एसएचजी, सफा गांव के जय त्रिनाथ एसएचजी, मातृ शक्ति एसएचजी और साई शरण एसएचजी सहित 4 एसएचजी के 30 एसएचजी सदस्य अपनी आय सृजन गतिविधि के रूप में मशरूम की खेती में शामिल हैं। डालमिया सीमेंट ने खेती के लिए प्रशिक्षण और बीज प्रदान किए तथा एसएचजी अपनी ओर से पुआल, पॉलिथिन, बेसन आदि में निवेश कर रहे हैं, जिससे वे प्रति सदस्य 4000/- रुपये प्रति माह तक की औसत आय अर्जित कर सकते हैं।

इस बारे में बोलते हुए कि कैसे कौशल प्रशिक्षण ने उन्हें आत्मनिर्भर बना दिया है, धौराडा गांव के प्रियलक्ष्मी एसएचजी की सदस्य श्रीमती साबित्री पात्रा ने कहा, “मैंने गर्मियों के दो महीनों को छोड़कर, साल के 10 महीनों में मशरूम की खेती से प्रति माह लगभग 8000-10000 रुपये कमाए। इससे मुझे अपने बच्चों की शिक्षा का सहयोग करने और मेरे पति को घर चलाने में भी मदद मिलती है। मैं अन्य महिलाओं को प्रशिक्षण देने में भी लगी हुई हूं क्योंकि मैं इन लाभों के बारे में जागरूकता फैलाना और अपनी तरह स्वतंत्र बनाना चाहती हूं। मैं डालमिया सीमेंट का उनके समर्थन और मार्गदर्शन के लिए वास्तव में ऋणी हूं, जिसने मुझे इतनी ऊंचाई तक पहुंचने में मदद की है।”

धौराडा गांव के श्रीमती साबित्री पात्रा, लांजीबरना गांव की श्रीमती फ़िलिसिया कुल्लू, श्रीमती सीमा एक्का, खेरामुता गांव की श्रीमती कमला साहू, श्रीमती लक्ष्मी साहू और बिहlबंध गांव की श्रीमती संजली बंचोर उन महिलाओं में से हैं जो मशरूम की खेती को अपनाने से लाभान्वित हो रही हैं। मशरूम की खेती के अलावा, डालमिया सीमेंट अपनी सीएसआर पहल के माध्यम से विभिन्न गांवों में मसाला बनाने, अचार बनाने, फूलों की खेती, जैविक सब्जियों की खेती, टेराकोटा उत्पाद बनाने आदि जैसे विभिन्न आय पैदा करने वाले कार्यक्रमों को बढ़ावा दे रहा है।

Rajesh Dahima

Nation Update Is The Fastest Growing News Network in India. It Comprises of the Youth And Active Media Team Covering All The Sectors From Each And Every Corner of the Country. Nation Update Has Worked Brilliantly Covering And Reporting The Ground Reality Of The Country...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!